Connect with us

गुमला

गुमला में शादी का प्रलोभन देकर छात्रा के साथ करता रहा दुष्कर्म

Published

on

GUMLA: गुमला ज़िला के नक्सल प्रभावित इलाका जहाँ नक्सलियों कि टूटी बोलती है। वहाँ कि एक युवती के साथ काफी दिनो तक होता रहा दुष्कर्म। अपनी जीवन सवांरने के लिए गुमला पढ़ाई करने जाने वाली लड़की के साथ एक युवक लगातार दुष्कर्म करता रहा। विशनपुर से एक एसी खबर सामने आई है जहां कुवारी गांव की एक युवती गुमला के बहरा टोली में किराये के माकन में रहकर पढ़ाई कर रही थी। एक दिन अचानक करम डीप्पा का निवासी मनोज चिक बड़ाईक ने उसे डरा धमकार कर उसके साथ दुष्कर्म किया।

जिसके बाद वह उसे शादी का प्रलोभन देकर लगातार दुष्कर्म करते रहा। उसके बाद युवती लगातार उसे शादी के लिए बोलती रही और तीन माह का गर्भधारण हो गई। पर युवक ने ये जानकर उससे शादी से इंकार कर दिया। उसे गर्भपात कराने के लिए धमकी देने लगा। जान से मरने कि धमकी भी दी। उसके बाद उसने अपने माता पिता को इस बात की जानकारी दी। जिसके बाद गुमला थाना में पीड़िता के आवेदन पर मामला दर्ज किया गया। गुमला एसडीपीओ ने इसकी पुरी जाँच कर कार्यवायी करने कि बात कही है।

गुमला से कुमार सोनी कि रिपोर्ट।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Breaking News

GUMLA : सीएम रघुवर ने कार्तिक उरांव को किया याद, कहा- हर गरीब को शिक्षित कर सक्षम बनाना है

Published

on

GUMLA : सीएम रघुवर दास ने गुमला में स्वर्गीय कार्तिक उरांव की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया। कार्तिक उरांव की स्मृति में खेलकूद प्रतियोगिता के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में सीएम शामिल हुए। उन्होंने कहा कि हर गरीब को शिक्षित कर उन्हें सक्षम बनाना है।सीएम ने खेती, किसान, गरीब और बेटियों की बात की।उन्होंने कहा कि आज झारखण्ड विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। उन्होंने आदिवासी संस्कृति बचाने की भी बात की।

स्वर्गीय कार्तिक उरांव स्मृति जतरा सह खेलकूद प्रतियोगिता के मौके पर घाघरा के प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय बदरी के मैदान में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सीएम रघुवर दास ने स्वर्गीय कार्तिक उरांव को नमन करते हुए जतरा आयोजन को संस्कृति के संरक्षण संर्वद्धन का माध्यम बताया। जतरा के माध्यम से लोगों में मेल जोल होता है। झारखण्ड की पहचान यहाँ की वर्षों पुरानी नृत्य, गीत-संगीत की परम्परा है। इसको जनजातीय समाज आने वाली पीढ़ी को वाहक की भूमिका में आगे ले जा रही है।

सीएम ने स्वर्गीय उरांव की सोच तथा जनजातीय आदिवासी समाज को समृद्ध करने का सपना तथा हर गरीब को शिक्षित कर उन्हें सक्षम बनाने के लक्ष्य को हमारी केन्द्र तथा राज्य की सरकार प्राथमिकता के आधार पर कार्य कर रही है। इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय परिसर स्थित स्वर्गीय कार्तिक उरांव की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

रघुवर दास ने कहा शिक्षा से ही समाज की दशा और दिशा बदल सकती है। सभी समस्याओं का समाधान शिक्षा के माध्यम से ही संभव है।हमारी सरकार बेटियों को साक्षर तथा शिक्षा का हक दिलाने के लिए चलाई जा रही योजनाओं यथा मुख्यमंत्री सुकन्या योजना, बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ के बारे में विस्तार से बताया तथा उपस्थित लोगों से इस योजनाओं से मिलने वाले लाभ व प्रक्रिया के बारे में जानकारी भी ली।

रघुवर दास ने आगे कहा शिक्षा के स्तर में वृद्धि के साथ-साथ हमारी समृद्ध संस्कृति को बचाएं रखना आज की जरूरत है। इसी संस्कृति को बचाने तथा आगे बढ़ाने के लिए हमारे समाज के कई महापुरूष हुए है, उनमें से कार्तिक उरांव एक महापुरूष थे।पिछले सरकारों के स्पष्ट नीति नहीं होने के कारण जनजातीय समाज के पिछड़ेपन का कारण बताते हुए कहा, हमारी सरकार जनजातीय समाज तथा नारी शक्ति को राष्ट्र की शक्ति की बनाने के लिए 2.17 लाख सखी मंडल बनाकर उन्हें रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ स्वावलंबी बनाने की राह दिखाई है। सरकार के कई कार्यक्रमों से जोड़ कर उनकों कई तरह के प्रशिक्षण तथा उनके उत्पाद के लिए बाजार उपलब्ध कराने का काम किया है।

सीएम ने कहा कि गरीब, आदिवासी तथा समाज के पिछड़े वर्ग के लोग अपने स्वाभिमान को जगाएं। अपने लिए सही जनप्रतिनिधि का चुनाव करें। हमारी सरकार प्राथमिकता के आधार पर गाँव की तकदीर बदल कर गांव में शहरी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कृत संकल्पित है। गांव-गांव स्ट्रीट लाईट, पेबर ब्लॉक से सड़क, घर-घर नल से पानी लोगों को मिल रहा है।

वर्तमान सरकार की प्राथमिकता गिनाते हुए रघुवर दास ने आगे बताया सेवा ही लक्ष्य के साथ हमारी सरकार काम कर रही है। आने वाले 2020-22 तक प्रत्येक बेघरों को विभिन्न योजनाओं से पक्का मकान दिया जाएगा। 57 लाख गरीब लोगों को निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधा दिलाने के लिए गोल्डेन कार्ड बनाया जा रहा है। किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री कृषि की योजना से कृषि में सहायता हेतु आर्थिक मदद दी जा रही है। किसान तथा नौजवान कृषि के साथ-साथ पशुपालन व बागवानी व्यवसाय से जुड़ कर अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की अपील की। गांव में धुमकुड़िया मसना की घेराबंदी कर आदिवासी संस्कृति को बचाने का काम किया जा रहा है। गरीबों को लालच देकर धर्मांतरण से रोकने के लिए धर्मांतरण कानून पूरे राज्य में लागू है।

अपने संबोधन के क्रम में सीएम ने उपायुक्त को पलायन करने वाले लड़कियों तथा अनाथ बच्चे-बच्चियों को सूचीबद्ध करने व उन्हें गार्मेंट सिलाई
का प्रशिक्षण दिलाने का निर्देश दिया।मंचीय कार्यक्रम के उपरांत मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय बदरी में उपलब्ध मूलभूत सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने मौके पर उपायुक्त को विद्यालय में उपयुक्त मात्रा में बेंच-डेस्क, पेयजल व विद्यालय परिसर की घेराबंदी कराने का निर्देश दिया।

कार्यक्रम में झारखण्ड विधानसभा अध्यक्ष डॉ. दिनेश उरांव ने कहा कि जबसे सीएम रघुवर दास ने राज्य की बागडोर संभाली है विगत 04 वर्षों से स्वर्गीय कार्तिक उरांव स्मृति जतरा में आते रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा क्षेत्र की विकास के लिए सरकार सदैव तत्पर है।वहीं राज्यसभा सांसद समीर उरांव ने मुख्यमंत्री को राज्य के विकास पुरूष एवं झारखण्डी संस्कृति का संरक्षक बताया तथा जनजातीय महापुरूष स्वर्गीय कार्तिक उरांव के सोशल इंजिनियरिंग के ड्राफ्ट को धरातल पर उतारने वाला मुख्यमंत्री बताया।

दुमका से कुणाल की रिपोर्ट …

Continue Reading

गुमला

गैंगरेप मामले में 4 को मिली सज़ा, ज़िन्दगी कटेगी अब जेल में

Published

on

GUMLA:  गुमला एडीजे प्रथम एवं पोस्को एक्ट के विशेष न्यायाधीश लोलार्क दुबे की अदालत ने नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में चार अभियुक्तों को सश्रम आजीवन कारावास की सज़ा सुनायी है। साथ ही सभी चारों अभियुक्तों को बीस-बीस हजार रुपये अर्थदंड की सजा दी गई है। अर्थदंड नहीं देने पर एक वर्ष के अतिरिक्त कारावास की सज़ा भी दी गई है।

मामला बसिया थाना क्षेत्र का है, जहाँ 11 मार्च 2016 को एक 16 वर्षीय नाबालिग को जबरन ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया। इसमें पांच अभियुक्त शामिल थे पुलिस ने पीड़िता के लिखित बयान पर मामला दर्ज किया था। पुलिस ने पाँच में से चार अभियुक्त को गिरफ्तार किया है जबकि एक अभियुक्त अभी भी फरार है। गिरफ्तार चारों अभियुक्त ईमेल केरकेट्टा, मलीन ज्ञान बारला उर्फ ज्ञान प्रकाश बारला, एडमोन केरकेट्टा एवं जेवियर टोपनो को 376डी तथा लैंगिक अपराध से बालकों के संरक्षण अधिनियम 2012 के तहत सजा सुनाई गई है।

 

वहीं विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव से कोर्ट ने अनुशंसा किया है कि पीड़िता के समुचित देखभाल के लिए उचित सहायता प्रदान की जाए। सज़ा सुनाए जाने के बाद अपर लोक अभियोजक चंपा कुमारी ने बताया कि इससे समाज में लगातार बढ़ रही दुष्कर्म जैसी जघण्य अपराध में कमी आएगी। वहीं बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि फैसला के विरोध में हाईकोर्ट जाएंगें। ज्ञात हो कि पीड़िता अपनी बड़ी बहन की शादी कार्यक्रम में कामडारा थाना के धरनापुर गई थी, जहाँ जेवियर टोपनो उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा था।

 

नाबालिग के विरोध के बाद उसने बदला लेने की धमकी दी थी। शादी कार्यक्रम से वापसी के दौरान पीड़िता को जबरन पकड़ कर सुनसान जगह में ले जाकर वारदात को अंजाम दिया। दुष्कर्म के पश्चात पीड़िता की हत्या की कोशिश भी अभियुक्तों ने की। पर बड़ी मुश्किल से भागकर एक ग्रामीण के घर जाकर छुप जाने के कारण उसकी जान बच गई।

 

गुमला से मुकेश कुमार सोनी की रिपोर्ट

Continue Reading

गुमला

अबैध संबंध से नाराज पति ने की पत्नी की हत्या

Published

on

GUMLA: गुमला में अबैध सम्बन्ध को लेकर पति ने पत्नी की निर्मम हत्या कर मौत के घाट उतार दिया है। हत्या लाठी डंडा से पिट-पिट कर किया है। जिसके बाद आरोपी पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी को पुलिस हिरासत में लेकर पूछ-ताछ कर रही है। घटना जिले के विशुनपुर थाने क्षेत्र के घाघरा गांव की है। जहाँ पति प्रमोद खेरवार ने 32 वर्षीय पत्नी रजनी देवी को लाठी डंडा से पिट पिट कर हत्या कर दी है। घटना की सूचने मिलने के बाद थाना प्रभारी दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे।

आरोपी पति को हिरासत में लेकर घटना की जांच कर रही है। वही शव को कब्जे में कर पोस्मार्टम के लिए गुमला भेज दिया है। पुलिस हत्या के मामले में जांच कर रही है। जानकारी के अनुसार पति-पत्नी गांव में ही खेती-बाड़ी का काम करता था और पत्नी पास के मकई खेत मे थी जिसके बाद प्रमोद खेरवार घर लौट आया और पत्नी को तलाश करने लगा तभी पास के खेत मे आपत्ति जनक हालत में पति ने देख लिया। जिसके बाद घर पहुच कर देर रात दोनों शराब पी। किसी बात को लेकर आपस मे झगड़ा हो गया। जिसके बाद हत्या कर दिया गया।
गुमला से मुकेश कुमार सोनी की रिपोर्ट।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2019 All Rights Reserved to Ajaya Media and Telecommunication Pvt. Ltd.