Connect with us

Breaking News

पटना-रांची में सुहागिनों ने ‘सिंदूर खेला’ के साथ मां को विदा किया ससुराल, कहा- अगले बरस फिर जल्दी आना

Published

on

AJAYA BHARAT DESK : नौ दिनों के नवरात्र के बाद विजया दशमी का पर्व मनाया जा रहा है। दशहरा के उल्‍लास के बीच मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन की तैयारी भी शुरू हो गई है। पटना में कई दुर्गा मंदिरों और पंडालों में बंगाली समाज की महिलाओं ने ‘सिंदूर खेला’ रस्‍म के साथ की मां दुर्गा की आराधना की। वहीं झारखंड की राजधानी रांची में भी महिलाओं ने इस मौके पर ‘सिंदूर खेला’ किया। वहीं हजारीबाग और धनबाद में भी बंगाली समाज की महिलाओं ने सिंदूर खेला के साथ मां को ससुराल विदा किया।

राजधानी पटना की बात करें तो बंगाली समाज की ओर से दर्जनों समितियां पूजा का आयोजन कर रही हैं।पटना के बंगाली अखाड़ा, गर्दनीबाग दुर्गा मंदिर, छज्‍जू बाग स्थित पंडाल, बंगाली टोला आदि में बंगाली समाज की महिलाओं ने बंगाली परंपरा को निभाया।मां दुर्गा की भक्ति में डूबीं इन महिलाएं ढ़ोलक की थाप पर थिरकते हुए एक दूसरे को सिंदूर लगाय़ा।मां दुर्गा की विदाई की इस बेला में महिलाओं की आंखें नम थीं। बंगाली अखाड़ा की बात हो या बंगाली टोला की, सिंदूर खेला में महिलाओं ने जमकर नृत्‍य किया और एक-दूसरे को सिंदूर लगाया। इतना ही नहीं, मां के इस सिंदूर को खुद भी महिलाओं ने अपनी मांगों में लगाया। महिलाओं ने बताया कि सिंदूर खेला के साथ ही मां को मीठा खिलाकर विदा करते हैं और सिंदूर लगाकर परिवार के साथ ही पति के दीर्घायु होने की कामना करते हैं।

यह भी परंपरा है कि मां दुर्गा 5 दिनों के लिए अपने मायके आती है, लेकिन दशमी के दिन उन्हें सोलह सिंगार के साथ ससुराल के लिए विदा की जाती है। मां को मुंह मीठा कराकर विदाई दी जाती है। महिलाएं पान पत्‍ता से मां का गाल सहलाती हैं और अगले साल फिर आने के लिए निमंत्रण देती हैं। महिलाओं ने बताया कि बंगाली समाज में चार दिनों के लिए मां के पट खुलते हैं। षष्‍ठी पूजा को मां के छठे रूप मां कात्‍यायनी की पूजा अर्चना के साथ बंगाली समाज की प्रतिष्‍ठापित मां दुर्गा के पट खुल जाते हैं। दशमी को मां दुर्गा को एक बेटी के रूप में मायके से ससुराल के लिए विदा की जाती है।इस सिंदूर खेला की रस्‍म के दौरान कुंवारी लड़कियां भी पहुंचती हैं। कुंवारी लड़कियों को यदि सिंदूर लग जाता है तो उसकी शादी में कोई परेशानी नहीं होती है।

इस परंपरा में विधवा तलाकशुदा और किन्नर को शामिल नहीं किया जाता है। हालांकि पिछले कुछ सालों में समाज में बदलाव आ रहा है और अब सिंदूर खेला प्राय सभी महिलाएं खेलती हैं सिंदूर खेला के समापन के बाद पूजा पंडाल से माता की बेल वर्णी कलश को स्थानीय तालाबों या नदियों में विसर्जित किया जाता है।

पटना से मनप्रीत के साथ रांची से प्रियंका मिश्रा की रिपोर्ट …

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Breaking News

‘राज पलिवार जिंदाबाद, बीजेपी जिंदाबाद’ के नारों से गूंजा मधुपुर, कई योजनाओं का हुआ शिलान्यास

Published

on

DEOGHAR : झाऱखंड सरकार के श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण मंत्री राज पलिवार ने मधुपुर प्रखंड के गोविन्दपुर पंचायत के टंडेरी गांव में नाला निर्माण पथ निर्माण कार्य का शिलान्यास किया।ये योजना विधायक निधि के तहत है।इसकी प्राक्कलित राशि 2 लाख 5 हजार के लगभग की है।

वहीं दूसरी ओर उसी पंचायत के बराबाद(यादव टोला) में राज पलिवार ने विधायक निधि से पीसीसी पथ निर्माण कार्य का शिलान्यास किया जिसकी प्राक्कलित राशि 2 लाख 49 हजार 200 रूपये की है।उसी कड़ी में साप्तर पंचायत के बड़ा नवादा गांव में 2 लाख 7 हजार 2 सौ की राशि का नाला निर्माण पथ निर्माण का शिलान्यास भी किया।

इन सभी जगहों के शिलान्यास से गांव वालों में ख़ुशी की लहर है,लोगो ने मंत्री राज पलिवार जिंदाबाद, भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद के नारे भी लगाये।मौके पर प्रखंड अध्यक्ष दीनदयाल शाही,ललन सिंह,सचिन राय, संजीव राय आदि लोग मौजूद थे।

देवघर से चंदन कुमार …

Continue Reading

Breaking News

DEOGHAR : सांसद निशिकांत दुबे और विधायक नारायण दास ने लगायी योजनाओं की झड़ी, खुला पावर सब स्टेशन

Published

on

DEOGHAR : देवघर के जसीडीह में पावर सब स्टेशन का उद्घाटन गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे एवं विधायक नारायण दास ने संयुक्त रुप से किया। वहीं दोनों ने बाल सुधार गृह, संप्रेक्षण गृह और बहुउद्देश्यीय हॉल के निर्माण का उद्घाटन भी किया।

वहीं सांसद निशिकांत दुबे और विधायक नारायण दास ने झारखंड सरकार पथ निर्माण विभाग द्वारा देवघर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कोयरीडीह मेन रोड से दिघरिया तक एवं दिघरिया से रमलडीह लिंक पथ का शिलान्यास किया । लगभग 28 करोड़ की लागत से इन दोनों सड़कों का निर्माण किया जाएगा।

उद्घाटन के मौके पर सांसद निशिकांत दूबे ने कहा कि केन्द्र सरकार ने बाल सुधार गृह देवघर मे दिया था यह निर्माण कार्य एक साल चार महीना मे तैयार हुआ।इसकी निर्माण की लागत 23 करोड़ का है।सांसद ने कहा कि बिहार झारखंड का पहला बाल सुधार गृह देवघर मे निर्माण हुआ है। उन्होनें कहा कि जो लडकी किसी कारण बस अपराध मे चली जाती है वो लड़की अपराध से कैसे समाज मे आपस जायेगी इसके लिये बेहतर बाल सुधार गृह मे सुविधा दिया गया है।सांसद ने कहा कि देवघर बाल सुधार गृह देख कर अन्य राज्य मे बनाने का प्रयास करेंगे।सांसद ने कहा बाबा बैधनाथ की सब कृपा है सभी योजना धरातल पर आ गयी है।

वहीं विधायक नाराय़ण दास ने कहा कि पावर सब स्टेशन बन जाने से क्षेत्र में बिजली की स्थिति सुधरेगी। उन्होनें कहा कि बिजली और सड़क के साथ-साथ स्थानीय लोग विकास के पथ पर अग्रसर होंगे।

ब्यूरो रिपोर्ट देवघर …

Continue Reading

Breaking News

माउंट लिट्रा स्कूल चेयरमैन निरंजन सिन्हा का एलान – शहीद के बच्चों को देंगे मुफ्त शिक्षा, हॉस्टल भी मिलेगा

Published

on

DEOGHAR : गोड्डा जिला के कांग्रेस उपाध्यक्ष और माउंट लिट्रा जी स्कूल के चेयरमैन निरंजन कुमार सिन्हा ने शहीद के बच्चों को नि:शुल्क पढ़ाने का एलान किया है।

निरंजन सिन्हा ने कहा कि शहीद को बच्चों को स्कूल में एजुकेशन के साथ-साथ फ्री हॉस्टल भी दिया जाएगा। उन्होनें बताया कि पहले से ही स्कूल में दो शहीदों के बच्चे निशुल्क शिक्षा ले रहे हैं। वहीं निरंजन सिन्हा ने कहा कि पुलिस जवान के बच्चों का भी मुफ्त प्रवेश स्कूल में लिया जाएगा।

गोड्डा जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष निरंजन कुमार सिन्हा क्षेत्र के जाने-माने समाजसेवी है। और इस बार महागामा विधानसभा के चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी में भी हैं । निरंजन कुमार सिन्हा लगातार क्षेत्र में सघन जनसंपर्क भी कर रहे हैं। कांग्रेस की जनसंघर्ष यात्रा को लीड करते हुए उन्होंने पूरे महागामा विधानसभा क्षेत्र का सघन दौरा भी किया है।

देवघर से ब्यूरो रिपोर्ट …

Continue Reading

Trending

Copyright © 2019 All Rights Reserved to Ajaya Media and Telecommunication Pvt. Ltd.