Connect with us

Featured

भारतीय डाक सेवा का डिजिटल स्वरुप, एक ही काउंटर पर सभी सेवाएं होंगी उपलब्ध

Published

on

MUNGER : मुंगेर में डिजिटल इंडिया के चौथे वर्षगांठ पर मुंगेर डाक अध्यक्ष ने एक प्रेस कांफ्रेस की. प्रेस क्रांफेस के माध्यम से उन्होनें बताया कि डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के आने से डाक विभाग की सारी योजनाएं अब ऑनलाइन हो गई है. जिससे अब लोंगो को लाइन लगने की जरूरत नही है. सब लोग घर बैठे ही अपना काम कर सकते हैं। 1 जुलाई 2015 को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व डाक विभाग के मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस योजना का शुभारंभ किया था।

कब शुरू हुआ था डिजिटल इंडिया कार्यक्रम
डिजिटल इंडिया प्रोग्राम भारत को डिजिटल तौर पर सशक्त बनाने के लिए शुरू किया गया कार्यक्रम है। इस अभियान के तहत शिक्षा, अस्‍पताल समेत सभी स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं और सरकारी दफ्तरों को गांव से देश की राजधानी से जोड़ा जाएगा। जिसके लिए 2019 तक 2.5 लाख गांवों में ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्ध होगा। जिसके माध्यम से आम आदमी सरकार से प्रत्यक्ष तौर पर जुड़ेगा। इसके अलावा सरकार देशभर में वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराएगी। ताकि आम आदमी को किसी भी काम के लिए इंतजार न करना पड़े। इसके साथ ही सारे काम ऑनलाइन होने से कागज की भारी बचत होगी जिससे पर्यावरण को भी फायदा होगा।

डाक सेवा में डिजिटल क्रांति
प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी योजना डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत भारतीय डाक विभाग विभिन्न प्रोजेक्टों के माध्यम से देशवासियों को बेहतर सेवाएं देने के लिये कदम बढ़ा रही है. इस तकनीक के माध्यम से रजिस्ट्री पत्र, स्पीड पोस्ट, बचत खाता आदि का डिजिटलाइजेशन से संभव हो सका. अब सभी कार्य सेंट्रल सर्वर से निष्पादित होंगे. अब किसी भी रजिस्ट्री पत्र, स्पीड पोस्ट का ट्रेस एवं ट्रैकिंग स्पष्ट एवं सही ढंग से हो सकेगा.अब किसी भी डाकघर में एक ही काउंटर से सभी सेवाएं जल्द एवं आसानी से मिलेगी. इससे जनता को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लक्ष्य की ओर बढ़ने का एक विशेष कदम है. इस सिस्टम से रजिस्ट्री, स्पीड पोस्ट जल्द मिलने से आम जनता एवं डाटा डिजिटलाइजेशन होने से डाक कर्मियों को भी राहत मिलेगी.अब किसी भी डाकघर में एक ही काउंटर से सभी सेवाएं जल्द एवं आसानी से मिलेगी.

इम्तियाज, मुंगेर

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Breaking News

सुषमा स्वराज ने जब राजनीति में मनवाया था अपना लोहा, पढ़े रिपोर्ट…

Published

on

पटना : पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बीती देर रात निधन हो गया। उन्होंने दिल्ली के एम्स में अंतिम सांस ली। इस खबर के बाद देश ही नहीं बल्कि विदेशी नेताओं ने भी दुःख जताया है। सुषमा स्वराज ने शुरू से ही रजनीति में अपना लोहा मनवाया है। आपको याद होगा कि भाजपा में सुषमा स्‍वराज का कद उस समय बेहद बढ़ा, जब उन्‍होंने कर्नाटक की बेल्‍लारी सीट से सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा।

हालांकि, वे सोनिया गांधी को हरा न सकीं, लेकिन इसके बावजूद उनकी सराहना हुई। तब सुषमा स्‍वराज ने दावा किया था कि अगर सोनिया गांधी देश की प्रधानमंत्री बन जाती हैं, तो वह अपना सिर मुंडवा लेंगी। सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने की वजह से ही उन्‍हें वर्ष 2000 में उत्‍तराखंड से राज्‍यसभा सांसद चुना गया था। सुषमा स्‍वराज ने इस दौरान भी कई ऐसे काम किए, जिससे उनका कद बढ़ता चला गया। 2004 में जब कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी। ऐसे में सोनिया गांधी का प्रधानमंत्री बनना तय माना जा रहा था। तब सुषमा स्‍वराज का एक अलग ही रूप देखने को मिला। सुषमा ने घोषणा की थी कि अगर सोनिया गांधी प्रधानमंत्री बनती हैं, तो वह अपने पद से त्‍याग पत्र दे देंगी और अपना सिर मुंडवाकर पूरा जीवन एक भिक्षुक की तरह बिताएंगी।

हालांकि, सुषमा स्‍वराज को ऐसा कुछ नहीं करना पड़ा, क्‍योंकि सोनिया गांधी की जगह डॉ. मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया। एक समय था जब सुषमा स्‍वराज को भारतीय जनता पार्टी के दिग्‍गज नेता लालकृष्‍ण आडवाणी का उत्‍तराधिकारी माना जाता था। सुषमा स्वराज के परिवार में उनके पति राजकौशल और उनकी बेटी हैं।

Continue Reading

Breaking News

मधुबनी के कोरियाही गांव के चवर में गिरा उल्कापिंड

Published

on

मधुबनी जिला के लौकही  और कौरियाही गांव के चवर में सोमवार को आसमान से गिरा बड़ा पत्थर इलाके में कौतूहल का विषय बना हुआ है। गांव के चवर में आसमान से अचानक गिरे इस पत्थर का वजन 15 किलों का है। जब यह पत्थर आसमान से गिरा तो इसकी आवाज काफी दूर तक धमाके की तरह गुंजा। पत्थर के गिरने वाली जगह पर 5 फीट गहरा गड्ढा बन गया है। आवाज सुनते ही आस पास के लोगों ने गड्ढों से इस पत्थल निकाला।

निकाला गया पत्थर लोहा मिश्रित दिख रहा है। जिसमे चुम्बक भी आसानी से सट जा रहा है। पत्थर सोमवार लगभग 12:00 बजे आसमान से गिरा पत्थर। अभी इस पत्थर को फिलहाल कौरियाही चौक पर रखा गया है l पत्थर लौकही थाना की देखरेख में है। स्थानीय पुलिस ने इसकी जानकारी जिले के डीएम शीर्षत कपिल को दी गयी है। अनुमान लगाया जा रहा है जल्द ही इस पत्थर को जांच के लिए इसरो को दे दिया जाएगा।

घटना के संबंध में प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि लौकही के कौरियाही-ककहिया बधार में आसमान से एक पिंड सोमवार दोपहर लगभग 12 बजे गिरा। खेतों में काम कर रहे किसानों में अफरा-तफरी मच गई। प्रत्यक्षदर्शी किसानों ने बताया कि तेज आवाज के साथ पिंड जब खेत में गिरा तो धुआं निकलने लगा। लगभग छह फुट नीचे तक चला गया। खेतों में काम कर रहे मजदूर वहां से भाग गए। थोड़ी देर बाद जब धुआं निकलना बंद हुआ तो वो वहां पहुंचे।

पटना से अजय भारत के लिए नवनीत की रिपोर्ट

Continue Reading

Breaking News

Published

on


पटना जंक्शन के यार्ड से सटे हार्डिंग पार्क की खाली जमीन पर पैसेंजर ट्रेनाें के लिए चार प्लेटफार्म बनाने का काम जल्द शुरू हाेगा। यहीं से पैसेंजर ट्रेनें खुलेंगी। इस परियाेजना के लिए रेलवे ने राज्य सरकार से जमीन मांगी थी। जमीन देने पर सैद्धांतिक सहमति पहले ही बन गई थी। 31 मई काे हाेने वाली कैबिनेट की बैठक में इसपर मुहर लगने की संभावना है। इसके बाद यह जमीन रेलवे काे मिल जाएगी। इस जमीन के मसले पर रेलवे अाैर राज्य सरकार के अधिकारियाें के बीच कई दाैर की बैठक हाे चुकी है। हाल ही में मुख्य सचिव से डीअारएम की मुलाकात हुई है। डीअारएम रंजन प्रकाश ठाकुर ने बताया कि 31 मई काे इस परियाेजना काे हरी झंडी मिल जाएगी। इसके बाद निर्माण का काम जल्द शुरू हाे जाएगा। इसका नक्शा बन कर तैयार है। 

बदले में रेलवे दे चुका है पटना घाट रेलवे लाइन की जमीन : हार्डिंग पार्क की जमीन के बदले पटना घाट की 18.5 एकड़ जमीन रेलवे राज्य सरकार काे पहले ही साैंप चुकी है। रेलवे की ओर से बिहटा एयरपोर्ट से दानापुर स्टेशन तक एलिवेटेड रोड के लिए भी जमीन दी गई है। इसके बदले हार्डिंग पार्क की 4.6 एकड़ जमीन राज्य सरकार से मांगी गई थी। जमीन हस्तांतरण की प्रक्रिया पूरी हाेने के बाद नए स्टेशन का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। इसके निर्माण से पटना जंक्शन का लोड काफी कम हो जाएगा। जंक्शन पर पैसेंजर ट्रेनों के यात्रियों की भीड़ कम जाएगी। खासताैर से पश्चिम जाने वाली व पाटलिपुत्र स्टेशन हाेकर जाने वाली पैसेंजर ट्रेनाें के यात्रियाें काे काफी सहूलियत हाेगी। 
अजय भारत के लिए पटना से नवनीत की रिपोर्ट

Continue Reading

Trending

Copyright © 2019 All Rights Reserved to Ajaya Media and Telecommunication Pvt. Ltd.