Connect with us

पटना

बारिश से जलजमाव की जिम्मेदार सरकार मुआवजा दे- मनोज कुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष

Published

on

PATNA: आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज कुमार ने पटना के जलजमाव के बिहार सरकार की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराते हुए पीड़ित गृहस्वामियों, किरायदारों, वाहन मालिकों को क्षतिपूर्ति के लिये मुआवजा दिए जाने की माँग की है।

उन्होंने माँग पत्र भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को प्रेषित किया है। आम आदमी पार्टी बिहार की ओर से उन्होंने जलजमाव क्षेत्र के पीड़ित मकानमालिकों को मकानों की मरम्मत के लिये एक लाख रुपए, मकान में रह रहे किरायदारों को हर्जाने के रूप में पच्चास-पच्चास हजार रुपये, पानी मे डूबे चार पहिया वाहनों के मालिकों को पच्चास हजार रुपए प्रति वाहन , दो पहिया वाहन मालिकों को दस हजार रुपए प्रति वाहन के साथ साथ क्षतिग्रस्त फुटपाथी दुकानदारों और झुग्गी वालो को वास्तविक नुकसान की राशि व मुआवजा हर्जाने के रूप में देने की माँग की है।

आम आदमी पार्टी बिहार की प्रदेश प्रवक्ता गुलफिशा यूसुफ ने पार्टी के मुआवजे की माँग के समर्थन में कहा है कि- “पटना नगर निगम को विगत कई वर्षों से छः से सात करोड़ रुपया सिर्फ पटना के निकासी नाली को उड़ाही के लिये आवंटित होता है जिसका बंदरबांट पटना के मेयर,नगरविकास मंत्री, और वार्ड पार्षदों की निगरानी में वर्षो से होता चला आ रहा है,महज दो दिनों की बारिश में पाँच फुट जलजमाव और दस दिनों तक जलनिकासी के आभाव में पटना के डूब जाना इसका प्रमाण है।

आम आदमी पार्टी बिहारकी ओर से आरोप लगाया गया है कि- प्रधानमंत्री की ग्यारह हजार चार सौ अठहत्तर करोड़ की नमामि गंगे योजना का लगभग एक हजार करोड़ रुपये बिहार सरकार द्वारा ख़र्च कर दिए जाने के बाद भी पटना में सीवर सिस्टम कहीं दिखाई नही देना और उसके आभाव में पटना का बारिश के बाढ़ में डूब जाना एक बड़े घोटाले के आशंका ओर इशारा करता है जो कि जाँच का विषय हो सकता है।

प्रदेश सह- मीडिया प्रभारी मृणाल कुमार राज ने पटना के नागरिको को जलजमाव के कारण हुई असुविधा और जान माल की क्षति की जिम्मेवार पटना नगर निगम के खिलाफ पटना हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करने की बात कही है।

पटना से कुमार गौतम की रिपोर्ट।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Breaking News

नई दिल्ली में राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार से सम्मानित होंगी पटना की ‘रिवाल्वर रानी’ मुखिया

Published

on

PATNA: पटना जिले के विभिन्न पंचायतों में सर्वोत्कृष्ट कार्य करने व सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को साकार करने वाले पांच मुखिया का चयन दिल्ली में होने वाला राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार समारोह के लिए किया गया है। पंचायती राज विभाग ने राष्ट्रीय समारोह के लिए बिहार से 70 मुखिया के कार्यों का आकलन व मूल्यांकन करने के बाद चयन किया गया है।

चयनित सभी मुखिया 23 अक्टूबर को दिल्ली में होने वाले पंचायती राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में शिरकत करने के लिए आज सोमवार तूफान एक्सप्रेस से रवाना होंगे। प्राप्त जानकारी के मुताबिक सूबे के विभिन्न जिलों से कुल 70 मुखिया का चयन किया गया है, जिसमें पटना की दस मुखिया शामिल हैं। पंचायती राज विभाग के निदेशक चंद्रशेखर सिंह ने 18 अक्टूबर को पंचायती राज मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव डा.संजीव पटजोशी को चयनित मुखिया की सूची उपलब्ध करायी है।

पंचायती राज विभाग के मुताबिक पटना जिला के खुसरूपुर की चौरा पंचायत की मुखिया सनिचर देवी, मोकामा के दरियापुर पंचायत के मुखिया राजू प्रसाद, फुलवारी कुरकुरी पंचायत के मुखिया रवि कुमार ,फुलवारी गोनपुरा पंचायत की मुखिया आभा देवी जिन्हे रिवाल्वर रानी के नाम से जाना जाता है, पालीगंज के दो पंचायत से जय कुमार प्रसाद एवं नासिर हुसैन , मसौढ़ी के पंचायत की मुखिया देवंती देवी, बख्तियारपुर घोसवरी पंचायत की मुखिया रवि रंजन कुमार सिंह,, मनेर के राधेश्याम सिंह, दानापुर मोरियांवां के मुखिया सुरेन्द्र साव का चयन राष्ट्रीय समारोह के लिए किया गया है।

पटना से कुमार गौतम की रिपोर्ट।

Continue Reading

Breaking News

बिरसा मुंडा की जयंती मनेगी वनवासी गौरव दिवस के रूप में, राज्यपाल फागू चौहान करेंगे शिरकत

Published

on

PATNA : आगामी 15 नवम्बर को महानायक बिरसा मुंडा जयंती के अवसर पर वनवासी गौरव दिवस मनाया जायेगा।

पटना के राजेन्द्र नगर स्थित आरएसएस कार्यालय में वनवासी कल्याण आश्रम की बैठक की बैठक में सर्वसम्मति से ये निर्णय लिया गया।

कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि फागू चौहान शामिल होंगे । कार्यक्रम के संयोजक रामाकांत पाण्डेय और सह-संयोजक मुकेश कुमार नन्दन और वीरेन्द्र गुप्ता को बनाया गया है।

ब्यूरो रिपोर्ट, पटना …

Continue Reading

Breaking News

दो दिवसीय बिहार-एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019 का शुभारंभ

Published

on

PATNA: ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन के द्वारा दो दिवसीय बिहार – एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019 का शुभारंभ आज राजधानी पटना के राजेंद्र नगर स्थित प्रेमचंद रंगशाला में हुआ। जिसका विधिवत उद्धाटन दीप प्रज्‍ज्वलित कर पद्म विभूषण सह राज्‍य सभा सांसद डॉ. सोनल मान सिंह, फिल्मफेयर और आईफा अवार्ड से सम्मानित बॉलीवुड गीतकार इरशाद कामिल के उपस्थिति में हुआ। इस दौरान डॉ. सोनल मान सिंह ने बिहार – एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019 के आयोजन के लिए अखिल भारतीय आईएसओ प्रमाणित और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स अवार्ड से सम्मानित गैर सरकारी संगठन ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन को धन्‍यवाद कहा। उन्‍होंने बिहार की सांस्‍कृतिक विरासत की चर्चा करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रम से पाटिलपुत्र व बिहार की भव्‍यता और सांस्कृतिक विरासत फिर से उजागर हो रही है और इसकी लौ जलती रहे, यही मेरी शुभकामनाएं हैं।

वहीं, बॉलीवुड गीतकार इरशाद कामिल ने कहा कि मैं दूसरी बार पटना आया हूँ, जहां मुझे यह एहसास हो रहा है कि यहां साहित्य, कला, संस्कृति और संगीत की विरासत पर विमर्श गहरा है। जो साहित्य, कला, संस्कृति और संगीत की विरासत सम्मान करते हैं, वो बीते कल का सम्मान कर वर्तमान का निर्माण करते हैं और भविष्य को धरोहर दे रहे हैं। यह बड़ी बात है। उन्‍होंने डॉ. सोनल मान सिंह के साथ स्टेज शेयर करने की बात को अपने लिए से सम्‍मान की बात बताया और उनसे आशीर्वाद भी लिया। इनके अलावा उनके अलावा महोत्सव में पद्म श्री डॉ. जे के सिंह, डॉ. अजीत प्रधान, डॉ. शांति जैन, श्री आर एन दास, श्री दीपक आनंद ने भी उद्घाटन सत्र को संबोधित किया।

कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में भारतीय प्रशासिनक सेवा के अधिकार श्री गंगा कुमार ने तमाम आगत अतिथियों का स्‍वागत किया और स्‍नेह फाउंडेशन की सेतु कुमारी ने वोट ऑफ थैंक्‍स कहा। कार्यक्रम का संचालन बिहार संगीत नाटक अकादमी के सचिव श्री विनोद अनुपम ने किया। इससे पहले कार्यक्रम की शुरूआत उत्‍साह बिहार लोक संगीत प्रतियोगिता के साथ शुरू हुआ। इसमें बिहार के विभिन्‍न जिलों के संगीत समूहों और बैडों ने बिहार की भाषाओं और बोलचाल में अपनी मौलिक रचना का जीवंत प्रदर्शन किया।

गौरतलब है कि यह आयोजन ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन (www.grameensnehfoundation) एक अखिल भारतीय आईएसओ प्रमाणित और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स अवार्ड से सम्मानित गैर सरकारी संगठन है, जो इस साल भी कला और फिल्म महोत्सव 2019 का आयोजन कर रही है। महोत्सव के दूसरे दिन निबंध, चित्रकला और लोक नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया जायगा, जिसमें बिहार के सभी नौ प्रमंडलों के विजेता अपने-अपने क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा करेंगे। क्षेत्रीय लघु फिल्म प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा और जूरी द्वारा सर्वश्रेष्ठ फिल्म घोषित की जाएगी। फिल्म सुपर 30 की स्क्रीनिंग की जाएगी और फिल्म में काम करने वाले लड़कों और लड़कियों को सम्मानित किया जाएगा। कला और फिल्म महोत्सव के समापन में पुरस्कार समारोह होगा जहां हर श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को सम्मानित किया जाएगा।
पटना से कुमार गौतम की रिपोर्ट।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2019 All Rights Reserved to Ajaya Media and Telecommunication Pvt. Ltd.