Connect with us

सासाराम

ड्रेनेज सिस्टम की वजह से हो रहा हदसा, चल रहा निर्माण कार्य

Published

on

सासाराम : जिले में इन दिनों पानी निकासी के लिए बन रहे ड्रेनेज सिस्टम के नाले को दुरुस्त नहीं किए जाने से आए दिन हादसे हो रहे हैं। बीते रात एक बुजुर्ग इस नाले में गिर गए। जिससे उनके पांव की हड्डी टूट गई। बता दें कि पोस्टल कॉलोनी होते हुए फजलगंज मोड़ जाने वाली सड़क के बीचो-बीच नगर परिषद द्वारा ड्रेनेज सिस्टम के तहत बड़ा नाला का निर्माण किया जा रहा है।

जिसमें जगह-जगह ‘मेन-होल’ बनाए गए हैं। लेकिन निर्माणाधीन होने के कारण इसी से होकर लोग गुजरते हैं। जिस कारण आए दिन इस खुले नाले में लोग गिरकर अपने हाथ-पांव तुड़वा लेते हैं। पिछले एक साल के आसपास से यह ड्रेनेज सिस्टम का नाला बन रहा है। कार्य की धीमी प्रगति के कारण लोग परेशान हैं। नाले के मेन-होल में फंस जाने से घायल शख्स को इलाज के लिए निजी क्लिनिक में लाया गया।

बता दें कि इस तरह के हादसे अमूमन प्रतिदिन हो रहे हैं। इस इलाके में दो-दो निजी विद्यालय हैं। जिसमें छोटे-छोटे बच्चे हैं। लेकिन ना तो इस मार्ग को पूर्णता ब्लॉक किया गया है और न ही पैदल राहगीरों के लिए अलग से डायवर्शन पथ बनाया गया है। जिस कारण आए दिन हादसा होते रहता है।

सासाराम से अमित कुमार की रिपोर्ट

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


सासाराम

सासाराम में अपराधियों ने 14 साल की लड़की को मारी गोली

Published

on

सासाराम : आज शाम सासाराम के घनी-बस्ती लखनु सराय मोहल्ले में सरेआम एक 14 वर्षीय लड़की की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप आसपास के ही युवकों पर लगा है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

बताया जाता है कि नगर थाना के जानी बाजार के रहने वाले अंगद कुशवाहा की बेटी आज शाम पूजा करने लखनु सराय काली मंदिर गई थी। इसी बीच एक युवक ने उसे गोली मार दी। जिसके बाद हंगामा मच गया। लोगों ने उसे किसी प्रकार सदर अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हत्या के कारणों का स्पष्ट पता नहीं चल सका है, लेकिन जिस तरह से महज 14 वर्ष की लड़की का सरेआम गोली मारकर हत्या हुई है। वो विधि व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हैं, लेकिन सवाल यह भी है कि 14 वर्ष की लड़की के साथ किसी की क्या दुश्मनी हो सकती है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है तथा आरोपी को पकड़ने के लिए छापामारी भी कर रही है।

सासाराम से अमित की रिपोर्ट

Continue Reading

सासाराम

सासाराम में कायस्थ विकास परिषद के नए कार्यकारिणी का गठन, पढ़े रिपोर्ट…

Published

on

सासाराम : जिले में कायस्थ विकास परिषद के नए कार्यकारिणी का गठन किया गया। जिसमें अश्वनी कुमार को नए सत्र के लिए जिला अध्यक्ष चुना गया। सासाराम के गौरक्षणी स्थित संतोषी मां पथ के जानकी सदन में आयोजित कार्यक्रम में कायस्थ विकास परिषद की नई कार्यकारिणी के गठन के अवसर पर कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

सभी ने सर्वसम्मति से अश्वनी कुमार को नए सत्र के लिए जिलाध्यक्ष चुना। साथ ही राकेश चंद्र सिप्पू को कार्यकारी अध्यक्ष बने रहने पर मुहर लगा दी। कार्यकारिणी गठन के बाद नए सदस्यों ने एक दूसरे को बधाई दी तथा समाज में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने पर बल दिया।

वहीं अश्वनी कुमार सिन्हा पदभार ग्रहण करने के बाद कहा कि बच्चों को पढ़ाने के लिए उच्च श्रेणी की शिक्षा देने की योजना बना रहे हैं। बच्चियों के लिए शादियों में मदद करना और जो लोग बेरोजगार हैं, उनको उद्योग में कैसे विस्तार करें, उसकी भी योजना हम लोग बना रहे हैं।

सासाराम से अमित की रिपोर्ट

Continue Reading

सासाराम

सासाराम का ‘मांझर कुंड’ देखने उमड़ी सैलानियों की भीड़

Published

on

सासाराम : आपने बहुत सारे जलप्रपात और झरना देखे होंगे, लेकिन अब हम आपको जो दिखाने जा रहे हैं उसकी सुंदरता मनोरम है। रोहतास जिला के दक्षिणी इलाके में स्थित कैमूर पहाड़ी से गिरने वाला जलप्रपात ‘मांझर कुंड’ को देखने इन दिनों सैलानियों की भीड़ उमड़ी हुई है। कारण यह है की वर्षा ऋतु में कैमूर पहाड़ी से कई मनोरम झरना निकलते हैं।

जिसमें सबसे खूबसूरत मांझर कुंड का झरना है। लोग तो यह भी मानते हैं कि प्रचार-प्रसार नहीं होने के कारण इसकी महत्ता से ज्यादातर लोग वाकिफ नहीं है, लेकिन अगर देखा जाए तो सासाराम का यह मांझर कुंड अमेरिका के प्रसिद्ध ‘नियाग्रा जलप्रपात’ से कहीं भी कम नहीं है। हर साल वर्षा ऋतु में हजारों सैलानी यहां घूमने आते हैं। खास तौर पर शानिवार और रविवार को काफी संख्या में पर्यटक आते है, लेकिन दुर्गम रास्ता होने के कारण यहां पहुंचना काफी मुश्किल होता है। फिर भी इस वाटरफॉल में पूरे वर्षा ऋतु में लोग यहां पिकनिक मनाने आते हैं।

रोहतास जिला का यह प्रमुख पिकनिक स्पॉट बन कर रह गया है। खासकर छुट्टियों के दिन यहां हजारों लोगों की भीड़ उमड़ती है। लोग कहते हैं कि इसे विकसित करने की आवश्यकता है। अगर यहां पहुंचने का सुगम रास्ता हो और समुचित प्रचार-प्रसार किया जाए तो मांजर कुंडी में गिरने वाले झरना किसी प्रसिद्ध झरना से कहीं कम नहीं है।

सासाराम से अमित की रिपोर्ट

Continue Reading

Trending

Copyright © 2019 All Rights Reserved to Ajaya Media and Telecommunication Pvt. Ltd.