Connect with us

Breaking News

छत्तरपुर चुनावी सियासत एक नजर में । विधानसभा चुनाव सर पे है…

Published

on

विधानसभा चुनाव सर पे है अगले हफ्ते
संभवतः चुनावी घोषणा भी हो जाएगी । लेकिन छत्तरपुर में प्रत्याशियों की उठा पटक अब तक जारी है । किसी भी पार्टी ने अब तक अपना उम्मीदवार तय नहीं किया है ।ऐसे में उम्मीदवारों को दुगनी मेहनत करनी पड़ रही है जनता के साथ साथ , पार्टी का विश्वास भी जितने के लिए मेहनत करनी पड़ रही है
। सभी प्रत्याशी अपने पार्टी का विश्वास जीतने में जोड़ सोङ से लगे हुए है । आशाओं और उम्मीदों की नईया में सवार चुनावी सभा और रैलियों में अपना दम झोकते नजर आ रहे । कई पार्टियों के लिए तो भावी प्रत्याशियों कि संख्या आधा दर्जन तक नजर आ रही है । कई नेताओं ने अपने पूर्व पार्टी का त्याग कर काफी उम्मीदों के साथ नई पार्टियों का दामन टिकट की उम्मीद में थामा है । वही कई नए चेहरे भी क्षेत्र में प्रचार करते देखे जा सकते है ।
टिकट के इस उधेड़ बुन का असर है कि बड़ी पार्टियां कई खेमो में बट चुकी है । एक ही पार्टी के बैनर तले जनता को अलग अलग नजारा देखने को मिल रहा है । वर्तमान जनप्रतिनिधि जहा अपने पिछले पांच वर्षों के कार्यों को दिखा जनता को विश्वास में ले रहे और पुनः पार्टी को अपने ऊपर दाव लगाने हेतु लुभा रहे है , तो वहीं उसी पार्टी के बैनर तले दूसरे नेता उनकी कमियों और अपने चुनावी मुद्दों बता जनता का विश्वास जीतने की कोशिश में जुटे है ।
जनसाधारण के मिजाज को देखते हुए घर का बेटा व मिट्टी का लाल जैसे कुछ मुद्दे अभी टॉप लिस्ट में है ।
इन सारे उधेड़ बुन में जनता भी चालाकी से सब की जय जयकार कर रही । लेकिन जो भी हो इस बार का विधानसभा चुनाव व परिणाम छत्तरपुर – पाटन विधानसभा के लिए काफी रोचक रहने वाला है ।
वही भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ के एक बयान के बाद कि “अन्य दलों से भाजपा में आने वालों के लिए टिकट की गारंटी नहीं है। हमने टिकट देने का कोई वादा नहीं किया है, न गारंटी दी है। तीन संभावित उम्मीदवारों की सूची केंद्रीय नेतृत्व को भेजी जाएगी, जिसमें एक उम्मीदवार बनेगा।” इसी बात को केन्द्रीय स्तर के कई भाजपा नेताओं ने भी स्पष्ट कर दिया है कि पार्टी के लिए जीतने वाले उम्मीदवारों को ही प्राथमिकता दी जाएगी । पार्टी के इस वक्तव्य ने छत्तरपुर – पाटन विधानसभा के कुछ ऐसे प्रत्यासी जो दूसरे पार्टियों से भाजपा में शामिल हुये उनकी चिंताओं को यकीनन बढ़ा दिया है ।

इन सभी बातों से परे ये देखना बेहद महत्वपूर्ण होगा कि क्या इस बार छत्तरपुर की जनता बिना किसी बहकावे , लालच , जात – पात , भेद भाव के चक्कर में फसे अपने और अपने क्षेत्र के सर्वांगीण विकास हेतु एक योग्य उम्मीदवार चुन पाती है या नहीं । क्योंकि ये इतिहास रहा है इस क्षेत्र का की एक बार जिसे दिल में बसा लेती है यहां की जनता तो लगातार कई मौके देती है , और यदि किसी नेता को आंखो से उतारा है तो कई प्रयासों के बावजूद भी उन्हें हार का ही मुंह देखना पड़ा है ।
कई मायनों में पिछले पांच वर्षो में काफी सुधार व विकास की साक्षी है छत्तरपुर डबल इंजन सरकार में , लेकिन वही कई मामलों में बुनियादी सुविधाओं से भी अछूता रह गया है छत्तरपुर ।और अब लोगो की राय माने तो उन्हें एक ही कारण नजर आ रहा को आज तक कोई भी अपने घर का बेटा विधायक नहीं बन पाया ।
वही सूत्रों कि माने तो महागठबंधन ने भी अपनी सीटों का बटवारा कर लिया है । संभवतः छत्तरपुर – पाटन विधानसभा से महागठबंधन को जीत दिलाने के जिम्मेवारी राजद को दी गई है । जेवीएम महागठबंधन से बाहर है ।
*सारी स्थिति परिस्थितियों , वर्तमान सरगर्मी व जनता की राय को ध्यान में रखते हुए सभी पार्टियों से छत्तरपुर – पाटन विधानसभा प्रतिनिधियों के कुछ संभावित चेहरे

छतरपुर से निरंजन सिन्हा की रिपोर्ट

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Breaking News

80 लाख ठगी मामले में गिरिडीह पुलिस ने मुंबई से नाइजीरीयन को किया गिरफ्तार, दवा प्रतिनिधि बनकर किया था ठगी

Published

on

GIRIDIH:  व्यवसायी निर्मल झुनझुनवाला से 80 लाख की ठगी के मामले में नाइजीरिया का एक निवासी एम यू हेनरी उर्फ डॉ एलेक्स डेविड नामक ठग को गिरिडीह पुलिस ने मुम्बई से गिरफ्तार किया है। गिरिडीह एसपी सुरेंद्र कुमार झा ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि डॉ एलेक्स डेविड एक दवा कंपनी का प्रतिनिधि बनकर गिरिडीह के व्यवसायी से 7 नवम्बर को रांची में मिला था। रेमान्सिन ऑयल की सप्लाई के एवज में 80 लाख रुपये का ऑनलाइन पेमेंट लिया गया था। बाद में व्यवसायी से 50 लाख रुपये की और मांग की गई। जब व्यवसायी ने जांच पड़ताल शुरू की तो पता चला कि फर्जी वेबसाइट के सहारे रुपये की ठगी की गई है। जिसके बाद व्यवसायी निर्मल झुंझनवाला  ने गिरिडीह के साइवर थाना में 30 दिसम्बर19 को एक मामला दर्ज कराया था।

गिरिडीह एसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि साइबर डीएसपी संदीप सुमन के नेतृत्व में एक एस आई टी  का गठन किया । इस टीम ने नवी मुंबई से डॉ एलेक्स डेविड को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास से दो स्मार्ट फोन, तीन फीचर फोन, एक पैन कार्ड, चार सिमकार्ड जब्त किया गया है। इनके शेष साथी मिस पामेला , डॉ रेमंड वेंसन , सुनीता जोस, व संजय जोशी की गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नाइजीरिया दूतावास को डॉ एलेक्स डेविड की गिरफ्तारी की सूचना भेजी जा रही है।

इधर व्यवसायी निर्मल झुनझुनवाला ने बताया कि एक विरिटिस महिला से दिल्ली में सम्पर्क हुआ था और वो एक दवा कम्पनी का प्रतिनिधि बताई थी। 300 लीटर रेमान्सिन ऑयल  की सप्लाई के लिए 5 करोड़ रुपये की मांग की गई थी। पहले 150 लीटर ऑयल सप्लाई के लिए 80 लाख रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर किया गया किन्तु ऑयल आपूर्ति नहीं करके 50 लाख रुपये की मांग कर दी गई। जांच पड़ताल में इस दवा कम्पनी का वेबसाइट फर्जी निकला।

Continue Reading

Breaking News

हम की बैठक संपन्न, माझीं ने कहा- 85 सीटों पर हम मजबूत,जीत हार में होगी हमारी महत्वपूर्ण भूमिका

Published

on

PATNA:  पटना स्थित सरकारी आवास पर हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के हैठक के बाद जीतन राम मांझी ने संवाददाता सम्मेलन कर पत्रकारों को संबाधित किया। बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि आज की बैठक में केंद्रीय कमेटी, जिला अध्यक्ष, जिला प्रभारी एवं पार्टी पदाधिकारियों की सदस्यता अभियान और बूथ कमेटी और पार्टी संगठन को लेकर बैठक संपन्न हुई । मांझी ने कहा 38 जिला में 22 से 25 जिलों में बूथ कमेटी 80% तक बन गया है और बाकी बचे हुए जिलों में 31 जनवरी तक 5 सदस्यीय बूथ कमेटी बना ली जाएगी । 31 जनवरी के बाद फरवरी के प्रथम सप्ताह से सम्मेलन होगी और चुनाव को लेकर प्रशिक्षण दिया जाएगा।

85 सीटों पर हमारी पार्टी मजबूती से चुनाव लड़ सकता हैं

मांझी ने कहा कि आज की बैठक में यह बात सामने आई है कि 85 सीटों पर हमारी पार्टी मजबूती से चुनाव लड़ सकता है जिसमें हम खुद जीत भी सकते हैं यदि वहां कोई उम्मीदवार होंगे तो हम उनको मदद कर उन्हें जिताने का ताकत रखते हैं। हम अपने मुद्दे पर अपने लोगों को ट्रेनिंग भी देंगे और हमारा ज्यादा से ज्यादा सीट जीते इसलिए संगठन को मजबूत करने का काम करेंगे। वहीं प्रेस वार्ता में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के नाम का तय कोआर्डिनेशन कमेटी की बैठक में होगी । महागठबंधन के हम पांच घटक दल आपस में बैठकर ही यह तय करेंगे कि आगे क्या करना है । किसी एक व्यक्ति या एक दल के निर्णय के सवाल पर उन्होंने कहा कि जब तक कोऑर्डिनेशन कमिटी की बैठक नहीं होती है। तब तक हम इस विषय पर कुछ नहीं कह सकते। कोआर्डिनेशन कमेटी को लेकर 15 तारीख को मकर संक्रांति के दिन एक बैठक होगी l  उसके बाद जो भी बातें होंगी आपके सामने रखी जाएगी ।

पटना स्थित सरकारी आवास पर हुई बैठक

आपको बता दें कि हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री जीतन राम मांझी की मौजूदगी में उनके पटना स्थित सरकारी आवास पर हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के जिला अध्यक्ष, जिला प्रभारी एवं पदाधिकारी की बैठक हुई। बैठक में उपस्थित जिला अध्यक्ष, जिला प्रभारी एवं पार्टी नेताओं द्वारा ज़िलों में किए गए कार्यों और संगठन विस्तार की जानकारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी एवं पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव व विधान परिषद सदस्य डॉ संतोष कुमार सुमन के समक्ष रखा गया। वहीं इस बैठक में प्रधान राष्ट्रीय महासचिव डॉ संतोष कुमार सुमन, राष्ट्रीय प्रवक्ता डा दानिश रिजवान, बीएल वैश्यन्त्री, डॉ उपेंद्र प्रसाद, पुर्व मंत्री डॉ अनिल कुमार, श्री रामेश्वर यादव, श्री सुरेंद्र कु० चौधरी, श्री राजेश पांडेय, श्री धीरेंद्र कुमार मुन्ना, श्री वीरेंद्र सिंह, श्री रमेश चंद्र कपूर, श्री विजय यादव, श्री नंद लाल मांझी श्री शंकर मांझी, श्री रामविलास प्रसाद, पूनम पासवान, तौफीसुर रहमान, श्री रघुवीर मोची, श्री राजेंद्र यादव, मो शरीफुल हक, श्री रत्नेश पटेल, श्री सुदेश प्रसाद, श्री रविंद्र शास्त्री, श्री शिव टहल मांझी, अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी आदी नेता इस बैठक में मौजूद थे।

 

Continue Reading

Breaking News

प्रेम प्रसंग में एक युवक की हत्या मामले में पांच दोषियों को उम्र कैद की सजा

Published

on

ARA : एडीजे तीन की त्रिभुअन यादव की अदालत ने हत्या के एक मामले में पांच दोषियों को उम्र कैद की सजा सुनाई है। मामला 4 साल पहले 2016 का है। जब उदवंत नगर थाना अंतर्गत दरियापुर गांव में 15/04/2016 को प्रेम प्रसंग में एक युवक वीर बहादुर की घर से बुलाकर  हत्या कर दी गई थी। मामले में पांच अभियुक्त को अदालत ने पहले ही दोषी करार दिया था। आज सजा के बिंदू पर बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता संजीव कुमार एवं अन्य ने बहस  की जबकि अभियोजन की तरफ से अपर लोक अभियोजक प्रशांत रंजन ने बहस की। अदालत ने बचाव पक्ष की इस दलील को स्वीकार किया कि सभी का पहला अपराध है इसलिए न्यूनतम सजा दी जाए।

साथ हीं अदालत ने इस दलील को भी स्वीकार किया कि जेल में काटी गई सजा को कुल सजा से कम किया जाए। साथ ही अदालत ने दोषी विशाल कुमार को आर्मस एक्ट में भी दोषी करार दिया तथा तीन साल की सजा सुनाई। दोनो सजा साथ साथ चलेंगी। इसके अलावा अदालत ने चार दोषियों पर पांच पांच हजार का अर्थ दंड भी लगाया है। जबकि विशाल कुमार पर कुल छह हजार का अर्थ दंड विभिन्न धाराओं में लगाया है। सजा सुनाए जाने के बाद अपर लोक अभियोजक प्रशांत रंजन ने बताया कि अभियोजन ओर से पेश किए गए साक्ष्य एवं दलील को स्वीकार करते हुए अदालत ने दोषियों को उम्र कैद की सजा सुनाई है।  उन्होंने फैसले पर संतुष्टि जताई है. जबकि बचाव पक्ष के अधिवक्ता संजीव कुमार ने फैसले को उच्च न्यायालय में अपील करने की बात कही है।

 

Continue Reading

Trending

Copyright © 2019 All Rights Reserved to Ajaya Media and Telecommunication Pvt. Ltd.