11 दिनों से अगवा है पटना की बेटी, रिहाई तो दूर आरोपियों को गिरफ्तार तक नहीं कर सकी पुलिस

राजधानी पटना में ये मामला दो थाना क्षेत्रों के बीच में फंसता रहा है. परिजनों ने अपनी बेटी की रिहाई को लेकर थाने से लेकर एसएसपी के दफ्तर तक गुहार लगाई है लेकिन पुलिस अभी तक आरोपियों को भी गिरफ्तार नहीं कर सकी है

11 दिनों से अगवा है पटना की बेटी, रिहाई तो दूर आरोपियों को गिरफ्तार तक नहीं कर सकी पुलिस

पटना. राजधानी पटना की एक बेटी पिछले 12 दिनों से अगवा है, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिल सका है. मामला दानापुर का है जहां 17 वर्षीय युवती का अपहरण  कर लिया गया लेकिन दो थानों की पुलिस भी अभी तक उसका पता नहीं लगा पाई है. बताया जाता है कि 18 तारीख से प्रिया कुमारी जो कि मठियापुर के रहने वाली है गायब हो गई. दानापुर थाने में उसके अपहरण का मामला भी दर्ज कराया गया, लेकिन मामला शाहपुर थाने पर थोप दिया गया. शाहपुर थाने ने भी जब मामला दर्ज नहीं किया तो दानापुर थाना में मामला दर्ज किया गया.

दोनों थानों की पुलिस परिजनों को हर बार सिर्फ आश्वासन दे रही है और परिजन थानों के साथ-साथ डीएसपी सिटी एसपी और एसएसपी तक गुहार लगाते थक चुके हैं. अभी तक बेटी का पता नहीं लग सका है. बताया जाता है कि 18 नवंबर को प्रिया अपनी मां को यह कहकर घर से निकली थी कि सहेली के घर प्रैक्टिकल की कॉपी लेने जा रही है. प्रिया अपनी सहेली के घर पहुंची थी लेकिन उसके बाद वह घर वापस नहीं लौटी. परिजनों को शंका हुई तो उन्होंने बेटी को फोन लगाया. बार-बार फोन लगाने के बाद भी प्रिया ने फोन नहीं उठाया. कुछ देर के बाद प्रिया ने खुद फोन कर मां को बताया कि हम बदमाशों के बीच में फंस गए हैं.

उसके बाद परिजन परेशान हुए और दौड़े-दौड़े दानापुर थाना पहुंचे. दानापुर थाने में शाहपुर का इलाका होने की बात कही गई, हालांकि बाद में दानापुर में ही मामला दर्ज किया गया. दानापुर पुलिस अब इस मामले को देख रही है लेकिन प्रिया कहां है इसका पता नहीं लगा पाई है. पुलिस का दावा है कि हमने युवती का पता लगा लिया है और जल्द ही बरामद कर ली जाएगी. परिजनों ने इस मामले में गांव के ही दो युवकों गोलू और रितिक पर आरोप लगाया है और इसका कारण भी है कि कुछ दिन पूर्व मारपीट की गई थी और बेटी को उठा लेने की धमकी भी दी गई थी. धमकी देने वाला फिलहाल गांव से फरार है