सुशांत सिंह को न्याय दिलाने की मांग-एक साथ थाली बजाएंगे बिहारवासी

सुशांत सिंह को न्याय दिलाने की मांग-एक साथ थाली बजाएंगे बिहारवासी

पटना- बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी अब भी उलझी हुई है. जांच एजेंसियों ने इसे आत्महत्या तो करार दिया है, लेकिन इस पर अभी तफ्तीश जारी है. वहीं, सुशांत की मौत से आहत बिहारवासियों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है और इंसाफ दिलाने की मुहिम भी जारी है. महिला विकास मंच ने तो ऐलान कर दिया है कि सुशांत सिंह को न्याय दिलाने के लिए 14 जुलाई को बिहार एकता दिवस मनाएंगे, जिसमें शाम 5 बजे देशभर के बिहारी एक साथ थाली और घंटी बजाकर एकता प्रदर्शित करेंगे.

संस्था की संयोजक वीणा मानवी और सदस्यों ने देशभर के बिहारियों से अपील की है कि सभी एक साथ थाली बजाएं, ताकि सुशांत को इंसाफ भी मिल सके और फिर किसी सुशांत के साथ बॉलीवुड में इस तरह की घटना न हो.बता दें कि महिला विकास मंच ने इससे पहले बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान, करण जौहर, रिया चक्रवर्ती समेत 5 लोगों के खिलाफ फर्स्ट क्लास ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के यहां सुशांत की मौत का साजिश रचने के आरोप में परिवाद पत्र भी दायर किया है और अब बिहार एकता दिवस मनाने का ऐलान किया है.

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत बिहार के रहने वाले थे और उन्होंने 14 जून को सुसाइड कर ली थी. हालांकि, उनकी मौत को लेकर कई तरह के सवाल अब भी कौंध रहे हैं. कोई इसे बॉलीवुड के नेक्सस से जोड़ रहा है तो कोई इसे नेपोटिज्म का शिकार बता रहा है. बिहार से ताल्लुक रखने वाले दिग्गज अभिनेता शेखर सुमन ने सोमवार को पटना में दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत के परिवार से मुलाकात की. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि बॉलीवुड में नेपोटिज्म से ज्यादा गैंगिज्म हावी है. माफिया और अंडरवर्ल्‍ड की जगह अब गैंगिज्म ने ले ली है.

बता दे शेखर सुमन ने सुशांत के सुसाइड पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि ऐसा है तो सुशांत एक नोट जरूर लिख छोड़ते. गौरतलब है कि बीते 14 जून को सुशांत मुंबई स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे. पुलिस ने इसे सुसाइड का मामला बताया है. पिता सहित परिवार और अन्‍य कई लोगों ने घटना की सीबीआइ जांच की माग की है. बता दें कि 15 जून को मुंबई में परिवार के पहुंचने के बाद सुशांत का अंतिम संस्कार किया गया. सुशांत का श्राद्ध कर्म पटना के राजीवनगर स्थित उनके आवास से ही किया गया था.