कोरोना को लेकर क्या छुपाना चाहती है बिहार सरकार...? महकमों के बीच कंफ्यूजन क्यों...

कोरोना को लेकर क्या छुपाना चाहती है बिहार  सरकार...? महकमों के बीच कंफ्यूजन क्यों...

बिहार सरकार कोरोना को लेकर बाजीगरी कर रही है... बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले एक सप्ताह में आधे दर्जन दफे कोरोना को लेकर पारदर्शिता बरतने का एलान कर चुके हैं. शुक्रवार को मंत्री मंगल पांडेय ने एलान किया कि कोरोना को लेकर हर रोज बुलेटिन जारी होगा. लेकिन अगले ही दिन यानि बिहार सरकार के स्वास्थ्य महकमे ने खेल कर दिया. बिहार में कोरोना टेस्ट का कोई आंकड़ा जारी नहीं किया गया. मीडिया के लिए व्हाट्सएप ग्रुप में दो मैसेज आया. हद देखिये कि उसे कुछ दी देर में डिलीट कर दिया गया. बिहार में आज कोरोना का सबसे बड़ा विस्फोट हुआ है और अब आरोप लग रहा है कि बिहार सरकार इस आंकडे को छिपाना चाह रही है. 

बिहार सरकार हर रोज कोरोना की जांच और उससे संबंधित आंकड़े स्वास्थ्य विभाग के ट्वीटर अकाउंट के जरिये जारी करती रही है. आज बिहार सरकार ने आंकडा जारी ही नहीं किया. पूरे दिन लोग इंतजार करते रहे, स्वास्थ्य विभाग के ट्वीटर अकाउंट पर कोई जानकारी ही नहीं दी. 

वैसे बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने आज मीडियाकर्मियों के लिए बनाये गये व्हाट्सएप ग्रुप में आंकड़ा डाला गया. इसमें भी ये क्लीयर नहीं किया गया था कि आज कुल कितने मरीज मिले. लेकिन मरीजों की कुल संख्या का जिक्र था लिहाजा ये पता चल गया कि कल से लेकर आज तक कुल कितने मरीज बढ़े. इससे साफ हो गया कि बिहार में आज कोरोना का सबसे बड़ा विस्फोट हुआ है. 

हद देखिये, जब तक मीडिया के लोग स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों से कोरोना की हालत समझ पाते तब तक उस मैसेज को ही डिलीट कर दिया गया. स्वास्थ्य विभाग की ओर से डाले गये दोनों मैसेज को डिलीट कर दिया गया. मीडिया के लोग परेशान हो गये लेकिन कोई ये बताने को तैयार नहीं था कि बिहार में आज कोरोना के क्या आंकडे हैं.

मिली सूचना के मुताबिक कोरोना वायरस ने बिहार में सभी पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। बिहार में अब तक एक दिन के अंदर इतने ज्यादा केस कभी सामने नहीं आए थे. स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक बिहार में 3521 ने कोरोना के मरीज मिले हैं. इन मरीजों के मिलने के साथ बिहार में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा बढ़कर 54508 जा पहुंचा है जो अपने आप में सबसे बड़ी उछाल है. आज सिर्फ पटना में 594 पॉजिटिव मरीज पाये गये हैं.